Create an Account

आखिर क्यों ज़रूरी है प्रतिभा की मार्केटिंग

By
May 26, 2020

सोशल मीडिया की दुनिया में, हर कोई अपनी प्रतिभा को या फिर किसी भी चीज को जिसमें वह बाहरी दुनिया के काबिल है, उसे बाँटना पसंद करता है। खुदको बाहरी दुनिया तक पहुँचाने के लिए यहां कई माध्यम हैं। कुछ ऑडियो क्लिप्स को सुविधापूर्ण महसूस करते हैं जबकि कुछ वीडियो क्लिप्स में बेहतर होते हैं। कुछ इसके बारे में वैश्विक स्तर पर लिखना पसंद करते हैं, जबकि कुछ इसका चित्रण करने में बेहतर हैं। प्रतिभा जबतक दुनिया में जहाँ तक पहुँचने योग्य है, वहां पहुँच न जाए तबतक वह व्यर्थ रहती है। आज की दुनिया में जहाँ पर हर क्षेत्र में बहुत ज्यादा प्रतिद्वंदिता है, इसमें खुदको दुनिया के सामने रखना एक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

चलिए एक बॉलीवुड सेलिब्रिटी का उदाहरण लेते हैं जो हमेशा अपने /अपनी प्रशंसकों के या तो लाइव होके या फिर अपने कार्यकलापों की लाइव स्ट्रीमिंग के द्वारा संपर्क में रहता है। वे अपनी फिल्म के प्रमोशनों के लिए मीडिया पे उपस्थित होते हैं और उनसे भी परस्पर होते हैं जबकि वह अपने व्यक्तिगत कार्यकलापों में व्यस्त रहते हैं। मूल रूप से वे बाहरी दुनिया को अपनी प्रतिभा विभिन्न मुमकिन माध्यमों का इस्तेमाल करके दिखा रहे हैं।  ठीक उसी भांति से , भीड़ से अलग हटके दिखने के लिए , एक कलाकार को हमेशा सक्रिय रहना चाहिए उस छेत्र में जिसमें वह विकास करना चाहते हैं।  मान लीजिये एक गायककार खुदको दुनिया के सामने प्रस्तुत करना चाहता है, तो वह अनुभव प्राप्त करने के लिए वर्कशॉप्स में उपस्थित हो सकता है, और गानों को सोशल मीडिया अकाउंट पे भी अपलोड कर सकता है।

मौलिक सिद्धांत यह है कि सोशल मिडिया पे अपने मित्रों को या फिर उन अनुचरों को जिन्हे उन्होंने अपनी प्रतिभा के द्वारा प्राप्त किया है, कैसे कोई अपनी प्रतिभा को प्रस्तुत कर सकता है। अगर वह संगीत की कक्षा को खोलने की योजना बना रहे हैं , तो उन्हें हमेशा अपने मौजूदा इलाके में सक्रिय रहने की कोशिश करते रहना चाहिए ताकि जब “मेरे पास की संगीत की कक्षाएं” को डालकर ढूंढा जाए , तो उनको अपने गीत के साथ या फिर शास्त्रीय गीत के साथ सूचीबद्ध होना चाहिए जो उन्होंने गाए हैं। अगर उनकी प्रतिभा को बेहतर मूल तत्व के साथ प्रस्तुत किया गया है तभी यह हासिल किया जा सकता है। यहाँ पर किसी भी सोशल पोस्ट या फिर कार्यकलाप, जो कि अपनी प्रतिभा को मुख्य रूप से सोशल मिडिया पे उभारने के लिए बनाया गया है, उसके लिए मूल तत्व मायने रखता है। चलिए अब, एक गिटारिस्ट का उदाहरण लेते हैं जो गिटार के लेसंस व्यक्तिगत या फिर ऑनलाइन कक्षाओं के द्वारा देने के लिए तैयार है। उसको पाने के लिए उन्हें ऑनलाइन वर्कशॉप्स में प्रस्तुत होना होगा और साथ में श्रोतागण के ध्यान को आकर्षित के लिए नि: शुल्क वीडियो कॉल की शुरुआत करनी होगी, जिन श्रोतागण तक वह पहुँचना चाहते हैं। मुख्य रूप से उभरने के लिए सही श्रोतागण तक पहुँचना बहुत महत्वपूर्ण है। एक चित्रकार जो अपनी कला को दुनिया से बांटने के लिए तैयार है, वह नि: शुल्क ऑनलाइन पाठ्यक्रमों को देने की शुरुआत कर सकता है। वह ड्राइंग आइडियाज को वीडियो के माध्यम से बाँट सकते हैं।

ऑनलाइन कोर्सेज, जिसे जब कोई सोशल मिडिया पे प्रस्तुत होना चाहता है तो इसके बारे मे सोच सकता है पर सबसे पहले निःशुल्क ऑनलाइन कोर्सेज को परिचालित करके, यह कई सारे मुख्य दृष्टिकोण मे से एक है। एक व्यक्ति कभी भी नए प्रस्तुत कलाकार या फिर शिक्षक के साथ संपर्क में नहीं आ पाएगा, जो भी कुछ वह जिसके लिए सीखना चाहता है। निःशुल्क ऑनलाइन कोर्सेज र्श्रोतागण को एकत्र करने में मदद करते हैं और दुनियां भर में जाने जाते हैं। ऑनलाइन कोर्सेज या फिर संगठनकारी वर्कशॉप्स  श्रोतागण की आँखों को आकर्षित कर और खासकर उचित वर्गीय वालों को एकत्र करने में मदद करती है। इस तरह के मामलों में श्रोतागण को फ़िल्टरिंग करने की ज़रूरत नहीं पड़ती क्योंकि किसी से तभी संबंध बन पाता है अगर उसे वास्तव में सीखने की चाहत होती है।

प्रस्तुतिकरण हमेशा ही किसी भी अमल की गई परियोजना का एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग होता है। इसलिए जब प्रतिभा को प्रस्तुत करने की बात आती है जो की अनोखी नहीं है तो उसके साथ समाज में समूहीकरण करना बहुत महत्वपूर्ण होता है। 

श्रोतागण तक पहुँचना या फिर वैश्विक स्तर पर उसके बारे में बात करना हमेशा लक्ष्य हासिल करने में मददगार होता है।  एक प्रतिभा जो कभी प्रस्तुत नहीं की गयी वह हमेशा बेकार रह जाती है क्योंकि कोई भी उसका उपयोग नहीं कर सकता है।  न ही वह जो उसका हक़ रखता है या फिर वह जो उसे पाना चाहता है। इसलिए प्रतिभा को प्रस्तुत करने में सबसे अच्छे मंच का चयन करना दुनिया का ध्यान खींचने की ओर हमेशा अग्रसर करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top